Loan की श्रेणी (Unsecured & Secured)

Category of loans

जब भी आप किसी बैंक या निजी संस्थान के माध्यम से कोई मुसीबत या जरूरी काम के लिए लोन लेने के लिए जाते हैं तो सबसे पहले आपको लोन के लिए कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों का होना बहुत जरूरी है आपने अक्सर सुना होगा कि लोन दो प्रकार के होते हैं सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन इन दोनों दोनों के बारे में हर व्यक्ति को जानकारी होना बहुत जरूरी है। जब आप लोन लेने के लिए आवेदन करते हैं तो कौन सा लोन आपके लिए सही है और किस श्रेणी के अंतर्गत वह लोन आता है, इसके बारे में जानकारी होना बेहद आवश्यक है। आइए आज हम आपको सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन के बारे में संपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैं…

Table of Contents

Loan की श्रेणी

हमारे देश में अलग-अलग प्रकार के लोन दिए जाते हैं लेकिन क्या अभी आपने कभी सोचा है कि इन दोनों को किस कैटेगरी में विभाजित किया जाता है और जिस उद्देश्य के लिए इनको विभाजित किया जाता है उसी के लिए व्यक्ति इनका सदुपयोग कर सकता है। लोन को दो भागों में विभाजित किया जाता है। जब भी आप तो बैंक के द्वारा लोन लेते हैं, तो वहां पर आपको लोन लेने के लिए पहले आपका लोन किस श्रेणी में आता है। उसके बारे में जान लेना बहुत जरूरी है आइए जानते हैं लोन की श्रेणी के बारे में….

secured-loan सिक्योर लोन श्रेणी

सिक्योर्ड लोन वह होता है जिसके अंतर्गत व्यक्ति को किसी चीज की गारंटी जैसे प्रॉपर्टी कोल्ड फिक्स्ड डिपॉजिट पीएफ आदि को गारंटी के रूप में बैंक के पास में गिरवी रखना पड़ती है।

Unsecured -loan अनसिक्योर्ड लोन श्रेणी

यह लोन वह होता है इसके अंतर्गत किसी की गारंटी की आवश्यकता नहीं होती है। यह व्यक्ति की सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए होता है।

1. सिक्योर लोन (secured loan)

बैंक के द्वारा दो प्रकार के लोन होते हैं यह सब आम हमने आपको पहले ही बता दिया है जब भी आप किसी भी जरूरी कार्य के लिए बैंक के पास में लोन लेने के लिए जाते हैं और कोई चीज गिरवी रखते हैं बैंक के द्वारा आपकी किसी भी चीज को गिरवी रखना ही सिक्योर लोन कहलाता है इस प्रकार के जो भी केस होते हैं उनके अंतर्गत और लेने वाले व्यक्ति की सिक्योरिटी के नाम पर कुछ भी चीज को बैंक में रखा जा सकता है सिक्योर लोन को प्रॉपर्टी के अगेंस्ट भी दिया जाता है।

सिक्योर लोन

प्रॉपर्टी के अगेंस्ट लोन लेने के लिए बैंक आपसे आपकी किसी भी जमीन या आपका घर उसको सिक्योरिटी के रूप में खुद के पास गिरवी रख लेती है।

जैसे उदाहरण के लिए अगर आपको अपना घर बनवाना है, और उसके लिए पैसे की जरूरत है तो आप इसके लिए बैंक में होम लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपनी किसी भी प्रॉपर्टी या जिस जगह पर आप मकान बना रहे हो उस प्रॉपर्टी के कागजातों को बैंक के पास में गिरवी रखना होगा। उसके बाद बैंक के द्वारा आप को लोन की राशि मिल जाएगी। उसे आप अपना घर बना सकते हो। इन परिस्थितियों में जब भी बैंक के पास आप कोई भी चीज गिरवी रखकर लोन की राशि देते हो और किसी कारणवश उसने लोन की राशि को नहीं चुका पाते तो इसमें सबसे ज्यादा ध्यान रखने वाली बात यह होती है कि आप लोन का पैसा नहीं भरते तो वह चीज बैंक के नाम पर हो जाती है।

सिक्योर्ड लोन ( secured loan) के अंतर्गत आने वाले लोन

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं बैंक के द्वारा लोन को दो श्रेणी में बांटा गया है उन श्रेणियों के अंतर्गत सभी लोग अलग-अलग विभाजित किए गए हैं सिक्योर लोन के अंतर्गत कौन कौन से लोन आते हैं आइए जानते हैं…

  • कार लोन

Secured loan के फायदे

व्यक्ति जब कोई मुसीबत या परेशानी के लिए या फिर अपने व्यापार के लिए किसी भी काम के लिए बैंक के द्वारा लोन के लिए आवेदन करता है। उसको लेने के बहुत फायदे हो सकते हैं, आइए जानते हैं…

  • सिक्योर लोन लेने का सबसे बड़ा फायदा इसमें आप लोन किसी भी चीज को बैंक के पास गिरवी रखकर आसानी से ले सकते हैं।
  • लोन को लेने के लिए थोड़ा रिस्क रहता है, लेकिन फायदा बहुत मिल जाता है।
  • जब आप लोन की राशि को किसी चीज को गिरवी रख कर  लेते हैं उसने आपको हमेशा अपनी चीज की सेफ्टी के लिए बैंक के द्वारा दी गई लोन को समय पर भरना होगा अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो बैंक आप की चीज को बेच कर अपने पैसे रिकवर कर लेगा।
  • सिक्योर लोन के अंतर्गत ब्याज की दर भी बहुत कम लगती है क्योंकि इसमें आप अपनी कीमती चीज को गिरवी रखकर लोन लेते हो।
  • सबसे बड़ा फायदा व्यक्ति की परेशानी का समाधान इसमें तुरंत हो जाता है थोड़ा समय जरूर लगता है लेकिन परेशानी हल हो जाती है।

Securad लोन के होने वाले नुकसान

सिक्योर्ड लोन के द्वारा जब व्यक्ति को किसी भी कार्य के लिए लोन दिया जाता है, तो इसमें सबसे बड़ा नुकसान का डर एक ही रहता है। अगर आप अपनी लोन की राशि को समय पर नहीं जमा करवाते हैं, तो आपके द्वारा रखी गई प्रॉपर्टी गोल्ड या अन्य कोई वस्तु सभी को बैंक जप्त कर लेता है,अर्थात बैंक उन सब चीजों की नीलामी करके बेच देता है और अपने पैसे कवर कर लेता है। इसीलिए जब भी आपको जरूरत पड़े अपनी परेशानी को दूर करने के लिए लोन तो ले लेकिन उससे होने वाले इस तरह के नुकसान से भी आपको बचना होगा और लोन की राशि को समय पर चुका देना ही आपके लिए सही रहेगा।

सिक्योर्ड लोन लेने के कारण

जैसा कि हर व्यक्ति का सपना होता है, कि कुछ लाइफ में करें या फिर कोई भी जरूरत हो सकती है, जिसके लिए कर्ज के रूप में बैंक से लोन लिया जाता है, हर व्यक्ति के कुछ अलग कारण इसमें होते हैं। आइए जानते हैं सिक्योर लेने के कारण के बारे में

  • खुद के सपनों को पूरा करने के लिए भी व्यक्ति लोन ले सकता है।
  • अपना खुद का घर बनाने के लिए भी लोन लिया जा सकता है।
  • गाड़ी खरीदने के लिए या नया व्यापार करने के लिए लोन लिया जा सकता है।

2. अनसिक्योर्ड लोन (Unsecured loan)

जब भी किसी व्यक्ति को लोन लेना है और उसके पास में कुछ सामान गिरवी रखने के लिए नहीं है तो ऐसे में बैंक के द्वारा एक दूसरे प्रकार के लोन की सुविधा भी दी जाती है इसको अनसिक्योर्ड लोन कहते हैं बिना किसी प्रकार की सुरक्षा के सिर्फ गारंटी के द्वारा दिया जाने वाला लोन अनसिक्योर्ड लोन कहलाता है इस लोन को लेने के लिए व्यक्ति की कोई सिक्योरिटी फीस नहीं लगती या कोई भी सिक्योरिटी के तौर पर किसी भी चीज को गिरवी भी नहीं रखना पड़ता है इस नोन को लेने के लिए सिर्फ आपको ब्याज किधर आपको अधिक चुकानी पड़ती है क्योंकि बैंक को अपने द्वारा दिए जाने वाले लोन की राशि के लिए रिस्क रहता है व्यक्ति लोन समय पर चुका पाता है नहीं चुका पाता इसीलिए उसके लिए आसान तरीका ब्याज का होता है जिसके माध्यम से शायद वह अपनी लोन की राशि को कवर कर लेता है।

अनसिक्योर्ड लोन

बैंक के द्वारा रिस्क बढ़ने का कारण इसमें यह होता है, कि बैंक के पास व्यक्ति का ऐसा कोई सामान नहीं होता है। जिस को बेचकर बैंक अपने पैसे को कवर कर सके। अनसिक्योर्ड लोन में बैंक के लिए हमेशा खतरा बना रहता है, क्योंकि वह व्यक्ति से लोन किस प्रकार ले। इसीलिए हमेशा अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत रेट ऑफ इंटरेस्ट ज्यादा लगता है। सामान्यतः लोग अनसिक्योर्ड लोन को अपने कारोबार के लिए या नया व्यवसाय शुरू करने के लिए लेते है। इसके अलावा जो भी वर्किंग कैपिटल मैनेजमेंट के लोग भी इस लोन को लेना सही समझते हैं। इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण जानकारी अनसिक्योर्ड लोन ले व्यक्ति के सिविल इसको देखकर ही उसको लोन दिया जाता है सिविल स्कोर की सही तरीके से जांच करके ही बैंक के द्वारा लोन दिया जाता है

अनसिक्योर्ड लोन ( unsecured loan)  के अंतर्गत आने वाले लोन

अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत कई प्रकार के लोन आते हैं आइए जानते हैं उन सभी के बारे में…

अनसिक्योर्ड लोन  लेने के लिए योग्यता

जब भी किसी व्यक्ति के द्वारा बिना किसी चीज को बैंक के पास गिरवी रखे हुए अगर लोन के लिए आवेदन करता है तो उसके पास निर्णय योग्यताओं का होना जरूरी है उसके बाद ही व्यक्ति को बैंक के द्वारा कर्ज दिया जाता है।

  • लोन लेने वाले व्यक्ति का सिबिल स्कोर की सही जांच
  • व्यक्ति की रोजगार के बारे में जानकारी
  • चरित्र
  • बैंक खाते में पैसे के लेनदेन का विवरण

अनसिक्योर्ड लोन लेने के लिए बैंक अप्रूवल

अनसिक्योर्ड लोन लेने वाले व्यक्ति को बैंक अप्रूवल क्यों देता है आइए जानते हैं किन कारणों से व्यक्ति को लोन के लिए अप्रूवल मिल सकता है…

  • चरित्र (character) – बैंक जो भी व्यक्ति लोन लेने के लिए आवेदन करता है सबसे पहले बैंक उसके चरित्र इतिहास और व्यक्ति के रोजगार को मुख्य रूप से देखता है।
  • क्षमता ( capacity ) – बैंक में लोन लेने वाले व्यक्ति की पैसे देने की योग्यता की भी बैंक जांच करता है, व्यक्ति की इनकम उसके बैंक अकाउंट की स्टेटमेंट के द्वारा देखी जाती हैं।
  • पूंजी ( capital ) – लोन लेने वाले व्यक्ति के बैंक के सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में कितना पैसा सेव है इसकी भी जांच होती है।
  • Collaterol – लोन लेने वाले व्यक्ति के पास कुछ अपने निजी संपत्ति है, उसको वह कोलेस्ट्रॉल के रूप में दे सकता है।
  • शर्त ( condition ) – लोन की क्या शर्त होती हैं उसके बारे में जानकारी।

अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत इन 5 चीजों की जानकारी के बाद ही बैंक लोन के लिए अप्रूवल पास करता है। किसके द्वारा व्यक्ति की जांच की जाती है कि वह लोन को चुका पाएगा या नहीं चुका पाए उसके बाद ही लोन देने का काम होता है।

अनसिक्योर्ड लोन ( unsecured loan) के फायदे

अनसिक्योर्ड लोन के निम्न फायदे हो सकते हैं

  • अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत व्यक्ति के पास सिक्योरिटी के लिए बैंक के पास कुछ रखने की आवश्यकता नहीं होती है।
  • अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत ब्याज की दर तो अधिक लगती है लेकिन मुसीबत के समय व्यक्ति को लोन तुंरत मिल जाता है।
  • यह लोन व्यक्ति को मुसीबत के समय में बचाने के लिए बहुत मददगार होता है।

अनसिक्योर्ड लोन ( unsecured loan) लेने के नुकसान

जब व्यक्ति को मुसीबत के समय में लोन लेने के लिए जरूरत पड़ती है तो उसके बहुत से नुकसान भी उसको उठाने पड़ जाते हैं आइए जानते हैं…

  • सबसे बड़ा नुकसान व्यक्ति को यह होता है कि उस लोन की ब्याज की दर बहुत अधिक होती है और व्यक्ति मुसीबत के समय में लोन तो ले लेता है लेकिन उसको चुका पाने के लिए वह सक्षम है या नहीं।
  • व्यक्ति अपने द्वारा लिए जाने वाले लोन की भरपाई किसी वस्तु को गिरवी रख कर भी नहीं कर सकता।
  • अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत व्यक्ति को ज्यादा लोन एक साथ नहीं दिया जाता है।
  • अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत लिए जाने वाले लोन पर रेट ऑफ इंटरेस्ट बहुत अधिक होता है।
  • अनसिक्योर्ड लोन चुकाने का समय भी बहुत कम होता है।

अनसिक्योर्ड लोन को लेने के क्या कारण

अनसिक्योर्ड लोन लेने के लिए व्यक्ति के पास बहुत से कारण हो सकते हैं. जिसके चलते वह बहुत मजबूर हो जाता है, और अनसिक्योर्ड लोन को लेता है, व्यक्ति खुद के निजी खर्चों के लिए भी, बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए, और घर की छोटी-मोटी जरूरतों को पूरा करने के लिए भी, अनसिक्योर्ड लोन ले सकता है। इसके अलावा और भी बहुत से कारण हो सकते हैं। जिसके चलते व्यक्ति को ऐसा कदम उठाना ही पड़ता है, और अनसिक्योर्ड लोन लेने के लिए आवेदन करना पड़ता है।

सिक्योर्ड लोन एवं अनसिक्योर्ड लोन में अंतर

व्यक्ति को जरूरत के समय में जो लोन बैंक के द्वारा दिए जाते हैं उसमें निम्न प्रकार का अंतर होता है।

1.सिक्योर लोन के अंतर्गत व्यक्ति अपने पास कोई भी कीमती चीज जमीन गहने आदि को गिरवी रखकर लोन ले सकता है,

लेकिन अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत किसी भी चीज को गिरवी नहीं रखा जाता व्यक्ति के सिविल स्कोर के आधार पर लोन की राशि दी जाती है।

2. सिक्योर्ड लोन के अंतर्गत लगने वाले ब्याज की दर बहुत कम होती है वही व्यक्ति अनसिक्योर्ड लोन के लिए आवेदन करता है तो उसमें रेट ऑफ इंटरेस्ट बहुत अधिक होता है इसका कारण होता है कि सिक्योर लोन में व्यक्ति अपनी किसी चीज को बैंक के पास गिरवी रख देता है और अनसिक्योर्ड लोन में ऐसा बिल्कुल नहीं होता इसी वजह से ब्याज ज्यादा लगता है।

3. सिक्योर्ड लोन व्यक्ति को बहुत सालों के लिए दिया जाता है वही अनसिक्योर्ड लोन भरने का समय बहुत कम होता है।

4 सिक्योर लोन के अंतर्गत व्यक्ति अपना कोई भी एक बड़ा व्यापार शुरू कर सकता है क्योंकि बैंक के द्वारा सिक्योर लोन बहुत अधिक मिल सकता है वही अनसिक्योर्ड लोन इतना नहीं मिल पाता है, व्यक्ति सिर्फ अपनी कुछ निजी जरूरतों को ही इसमें पूरा कर पाता है।

निष्कर्ष

आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको सिक्योर और अनसिक्योर्ड लोन के बारे में सभी जानकारियां दी है। व्यक्ति अपनी जरूरत पड़ने पर जो लोन उसको सही लगे उसी के आधार पर लोन ले उसके लिए सही रहेगा। इन लोन को लेने के क्या फायदे हैं, क्या नुकसान हैं,और लोन लेने के क्या कारण हो सकते हैं,सभी चीजों के बारे में बता दिया गया है।

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारियां पसंद आई होंगी आप इन सभी जानकारियों को लाइक शेयर जरूर कीजिए और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट भी कर सकते हैं और हमारी वेबसाइट से भी जुड़ सकते हैं।

FAQ

सिक्योर लोन क्या होता है?

एक सुरक्षित प्रकार का लोन,जिसमे बैंक में कुछ कीमती चीज गिरवी रखनी पड़त है।

अनसिक्योर्ड लोन के अंतर्गत कौन-कौन से लोन आते हैं?

पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन, क्रेडिट कार्ड लोन।

सिक्योर लोन के अंतर्गत कौन-कौन से लोन होते हैं?

गोल्ड लोन बिजनेस लोन होम लोन आदि।

Read in English