Gold Loan क्या है?

हमारे देश में अधिकतर लोग सोने में ज्यादा पैसा निवेश करते हैं, इसीलिए सभी के घर में ज्यादा नहीं तो थोड़ा सोना होता ही है, क्योंकि सोना ऐसी चीज होती है। इसको व्यक्ति आज के समय में हर त्यौहार या किसी भी पर्व पर खरीदना ज्यादा अच्छा समझता है।

Gold-Loan-in-hindi

ऐसे में अगर आपको कभी कोई मुसीबत पड़ जाए या किसी भी प्रकार के काम के लिए आपको पैसे की जरूरत पड़ जाए तो आप अपने घर में रखे सोने को किसी बैंक या एनबीएफसी कंपनी में गिरवी रखकर लोन ले सकते हो। आज हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा

गोल्ड लोन क्या होता है?

गोल्ड लोन लेने के क्या-क्या फायदे हैं?

Gold Loan कब लिया जा सकता है?

गोल्ड लोन लेने के लिए किन-किन योग्यताओं का होना जरूरी है?

गोल्ड लोन लेने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है?

गोल्ड लोन किन-किन फाइनेंशियल कंपनियों या बैंक के द्वारा लिया जा सकता है?

इन सभी के बारे में आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से समझा रहे हैं, आइए जानते हैं what is gold loan….

आखिर क्या है गोल्ड लोन?

दोस्तों सबसे पहले तो हम आपको यह बताना चाहते हैं कि Gold Loan एक प्रकार का सिक्योर्ड लोन होता है। सिक्योर लोन इसीलिए होता है क्योंकि गोल्ड लोनी के अंतर्गत आप अपनी सोने की चीजों को किसी भी बैंक या एनबीएफसी बैंक में गिरवी रखकर बदले में वहां से लोन के रूप में पैसे लेते हैं। जो सोना हम बैंक के पास में सिक्योरिटी के रूप में रखते हैं इसीलिए इसको सिक्योर लोन भी कह सकते हैं। सोना आपातकालीन और अल्पकालीन स्थिति में व्यक्ति की मदद करता है।

यह एक इमरजेंसी फंड की जैसे होता है, इसमें बहुत कम इंटरेस्ट लगता है। इसके अलावा गोल्ड लोन शादी ब्याह, घर की मरम्मत, ट्रेवल, डाउन पेमेंट, आदि देने में हायर एजुकेशन के लिए व्यक्ति ले सकता है। सोने की कीमत बहुत अधिक होने की वजह से लोन लेकर इसको कैश के रूप में बदल दिया जाता है। मुसीबत के समय पैसे की सभी जरूरतों को पूरा करने का काम गोल्ड लोन के द्वारा ही किया जाता है। गोल्ड लोन में अगर आप कभी भी लोन लेने के लिए जाते हो तो सोने की शुद्धता और उसकी वैल्यू के हिसाब से ही आपको लोन दिया जाता है।

बैंकिंग संस्थानों के कर्मचारियों का कहना है, कि किसी भी मुसीबत के समय व्यक्ति को पर्सनल लोन की जगह गोल्ड लोन लेकर अपनी मुसीबत को दूर करना ही सबसे अच्छा विकल्प होता है, क्योंकि पर्सनल लोन एक अनसिक्योर्ड लोन होता है और उसे ब्याज भी बहुत अधिक लगता है, लेकिन गोल्ड लोन एक सिक्योर्ड लोन है। इसमें ब्याज भी बहुत कम लगता है। जैसा कि आप सब लोग जानते हो कि गोल्ड आजकल हर किसी के घर में ज्यादा नहीं तो थोड़ा मिलता ही है।

ऐसे में आप अपनी मुसीबत को सोने को गिरवी रख कर दूर कर सकते हैं। यह एक फ्लैक्सिबल लोन है। इसका प्रोसेस भी बहुत ज्यादा आसान है।गोल्ड लोन लेने के लिए ज्यादा डॉक्यूमेंट या किसी प्रकार का कोई प्रूफ देने की जरूरत नहीं होती है। गोल्ड लोन के लिए जब भी आप किसी बैंक किया एनबीएफसी में जाते हो तो आपको गोल्ड के ऊपर लोन की राशि 75% तक आसानी से मिल जाती है।

Gold Loan लेने के फायदे

आज के समय में मनुष्य की हर मुसीबत का समाधान गोल्ड लोन होता है, आइए जानते हैं गोल्ड और देने से क्या-क्या फायदे हो सकते हैं…

  • गोल्ड लोन व्यक्ति को आसानी से इंस्टेंट रूप में मिल जाता है। हालांकि बैंकों के द्वारा लोन लेने में थोड़ा समय लगता है लेकिन बहुत सी प्राइवेट कंपनियां होती हैं इन से लोन आसानी से मिनटों में मिल जाता है।
  • किसी भी प्रकार के ज्यादा कागजात किसने आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • गोल्ड लोन में ब्याज पर्सनल लोन के मुकाबले कम लगता है।
  • गोल्ड लोन एक सिक्योर लोन होता है।
  • गोल्ड लोन किसी भी व्यक्ति का अगर सिविल स्कोर खराब है उसको भी आसानी से मिल जाता है।
  • गोल्ड लोन के द्वारा जो लोन की राशि होती है उसका उपयोग आप पर्सनल लोन की तरह किसी भी कार्य में अपने मन मुताबिक कर सकते हैं।
  • किसी भी आपातकालीन परिस्थिति के अंदर यह लोन लिया जा सकता है।

गोल्ड लोन के लिए ध्यान रखने योग्य कुछ बातें

दोस्तों आप सभी लोग जानते हैं कि जब भी हम किसी भी लोन के लिए बैंक में या किसी भी एनबीआरसी संस्थान में आवेदन करते हैं, तो उसके लिए कुछ जरूरी जानकारी होती है। उनके बारे में पता होना भी बहुत जरूरी होता है। उसके बाद ही इस लोन के लिए आप आवेदन करें तो सही रहता है, आइए जानते हैं गोल्ड लोन लेने के लिए किन-किन महत्वपूर्ण बातों को याद रखना जरूरी होता है…

1. सबसे पहले आपकी किसी भी Gold Loan देने वाली बैंक या किसी भी एनबीएफसी फाइनेंसियल कंपनी के द्वारा लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो सबसे पहले उस बैंक की ब्याज की दर कितनी लगती है उसके बारे में सबसे पहले जानकारी प्राप्त कर लें ताकि आपको आगे किसी भी तरह का कोई पछतावा करना पड़े।

2. जैसा कि आप सब लोग जानते हो गोल्ड लोन एक सिक्योर लोन सुरक्षित होता है और अब बैंक में गोल्ड सिक्योरिटी के तौर पर रखा जाता है, इसीलिए गोल्ड लोन का ब्याज पर्सनल लोन की तुलना में बहुत कम होता है। सबसे महत्वपूर्ण इस बात की जानकारी भी लोन लेने से पहले ही आपको होनी चाहिए कि आपसे पर्सनल लोन की अपेक्षा गोल्ड लोन पर ब्याज की दर अधिक तो नहीं लगा रहे हैं।

3. गोल्ड लोन जब भी आपको कहीं से भी लेते हो तो उसको एक निश्चित समय अवधि के दौरान ही लोन की राशि को भरना पड़ता है अगर आप समय पर इसका भुगतान नहीं करते तो आपके लोन पर 2% या 3% और अधिक एक्स्ट्रा चार्जेस बैंक के द्वारा लगा दिए जाते हैं।

4. अगर आपने गोल्ड लोन लेने का मन बनाया है? और आपके मन में एक डर बैठा हुआ है कि मैं गोल्ड लोन की राशि तो ले लूंगा लेकिन उसको समय पर चुका पाऊंगा या नहीं चुका पाऊँगा? इसके अलावा जितना बड़ा अमाउंट आफ गोल्ड लोन लेने के लिए सोचते हो अगर आपको गोल्ड लोन की कीमत सही  मिल जाती है, ऐसे में आप गोल्ड लोन को बिकने दे। कम से कम आप ब्याज की दर से तो बच जाएंगे।

5. गोल्ड लोन ले ले पर उस लोन को आपने अगर 1 साल के अंदर नहीं भरा तो शायद आपकी गोल्ड को कंपनियां बैंक के द्वारा बेच भी दिया जाता है, या फिर उसकी नीलामी हो जाती है। क्योंकि बैंक के द्वारा आप को लोन भरने का समय पहले से ही निर्धारित करके बता दिया जाता है। उस समय में ही लोन को भरना पड़ता है।

6. इसके अलावा सबसे अंतिम और बहुत जरूरी बात गोल्ड लोन लेने पर आपको ब्याज के अलावा और भी बहुत सी चीजें होती हैं जिनका आपको भुगतान करना ही पड़ता है इसलिए सबसे पहले गोल्ड लोन लेने पर इंटरेस्ट रेट क्या होगा इसके अलावा उसने क्या क्या प्रोसेसिंग चार्ज लगते हैं मूल्यांकन शुल्क और इसके अलावा और भी एक्स्ट्रा चार्ज है जो भी लगते हैं उन सभी के बारे में जानकारी सबसे पहले ही कर लेना चाहिए आपके लिए बहुत सही होगा।

गोल्ड लोन देने वाली भारत की प्रमुख कंपनी बैंक

हमारे देश में आज बहुत सारी प्राइवेट कंपनियां और एनबीएफसी कंपनियां के अलावा बैंक जिनके द्वारा गोल्ड लोन की सुविधाएं प्रदान की जाती है आइए जानते है भारत की कुछ महत्वपूर्ण और टॉप गोल्ड लोन देने वाली कंपनियों के बारे में…

  • मुथूट फाइनेंस कम्पनी
  • मन्नापुरम फाइनेंस कंपनी
  • यूनियन गोल्ड लोन
  • एसबीआई गोल्ड लोन
  • महिंद्रा गोल्ड लोन
  • आईसीआईसीआई गोल्ड लोन
  • एचडीएफसी बैंक गोल्ड लोन
  • एक्सेस बैंक गोल्ड लोन

इन सभी भारत की टॉप और महत्वपूर्ण गोल्ड लोन देने वाली कंपनियों में आप गोल्ड लोन लेने के लिए पूरी तरह जानकारी करने के बाद ही आप कोर्ट में लेने के लिए आवेदन करें।

गोल्ड लोन के द्वारा मिलने वाली राशि

सबसे पहले आपकी जानकारी के लिए बता दें, गोल्ड लोन एक सिक्योर लोन होता है, इसलिए इस लोन ले आपको लोन से उतनी ही राशि मिलती है, जितनी आपने बैंक के पास में अपनी चीज गिरवी रखी है, अर्थात गोल्ड लोन का 75% पैसा आपको गोल्ड की कीमत के अनुसार दे दिया जाता है।

गोल्ड लोन के द्वारा मिलने वाली राशि पर ब्याज

गोल्ड लोन पर लगने वाले ब्याज की दर सभी फाइनेंसियल कंपनी या फिर बाद में अलग-अलग होती है। कभी-कभी जरूरत पड़ने पर या फिर मुसीबत के समय तो पर्सनल लोन की अपेक्षा में गोल्ड लोन पर ब्याज अधिक भरना पड़ता है। इसके अलावा कुछ अन्य चार्जेज भी बैंकों के द्वारा लगा दिए जाते हैं।

जिनको भरना भी अनिवार्य होता है।अगर सही मायनों में देखा जाए तो गोल्ड लोन पर जो ब्याज की दर लगती है वह 12.75%  या उससे अधिक की निर्धारित की गई है। गोल्ड लोन एक सुरक्षित प्रकार का लोन होता है, और इसमें अक्सर पर्सनल लोन की अपेक्षा ब्याज की दर कम ही लगती है, लेकिन कुछ कंपनियां होती है जो पर्सनल लोन से भी अधिक ब्याज की दर इसमे लगा देती हैं।

गोल्ड लोन के भुगतान का समय

जब भी गोल्ड लोन के लिए आप आवेदन करते हो तो उसको भरने का एक समय पहले से ही निश्चित किया जाता है,और लोन को भरने का अधिकतर समय 1 साल का दिया जाता है। अगर आप 1 साल के अंदर उस लोन की राशि को नहीं भरते हो तो बैंक या फाइनेंसियल कंपनी के माध्यम से आपके गोल्ड लोन पर और अधिक चार्जेस लगा दिए जाते हैं।

किसी कारणवश आप फिर भी उनसे संपर्क नहीं करते या फिर ब्याज को नहीं भरते हो या लोन की किसी emi को समय पर नहीं भरते हो तो बैंक वाले सबसे पहले आपके पास में नोटिस भेजेंगे अगर आपने नोटिस का भी कोई जवाब नहीं दिया तो बैंक वाले आपके गोल्ड को नीलाम कर देते हैं इसीलिए सही समय पर गोल्ड लोन की क़िस्त का भुगतान करे। क्योंकि बैंक वालों के पास में लोन की राशि के बदले गोल्ड सिक्योरिटी के रूप में गिरवी रखा होता है इसीलिए बैंक निश्चिंत हो जाता है।

गोल्ड लोन पर लगने वाले अन्य चार्जेज

जब भी आप Gold Loan के लिए बैंक क्या फाइनेंस कंपनी में आवेदन करते हो तो बैंक के द्वारा प्रोसेसिंग चार्ज 1% गोल्ड लोन पर लगाया जाता है। इसके अलावा कुछ कागजातों के लिए भी बैंक शुल्क लगता है। सोने के मूल्यांकन के लिए भी एक शुल्क बैंक के द्वारा लगाया जाता है। बैंक लोन अमाउंट के आधार पर भी आपसे नवीनीकरण शुल्क ले सकते हैं। राज्य के कानूनों के अनुसार स्टांप शुल्क भी बैंक के द्वारा लगाया जा सकता है। अगर आपने लोन की राशि को देरी से भुगतान किया है। उस पर आप को लेट पेमेंट चार्ज भरना पड़ता है। जब आप लोन को बंद करने का निर्णय बनाते हो उस पर जीएसटी 18%और प्रीपेमेंट फीस का चार्ज अलग से देना पड़ता है।

गोल्ड लोन को बैंक में सिक्योर कैसे करें

गोल्ड लोन में सोने के बने सभी आभूषणों को सुरक्षित करने की प्रक्रिया हर बैंक में लोन लेने वाले के लिए अलग-अलग प्रकार के होती है। सोने के बहनों को बहुत ही सावधानी से सुरक्षित रखा जाता है। लोन दिए जाने वाले के बाद में ग्राहक की सोने को बहुत कड़ी सुरक्षा में सीसीटीवी और डिटेक्टरों के साथ में इलेक्ट्रॉनिक वाल्ट का प्रयोग करते हुए बैंक लॉकर में रखा जाता है। बहुत से लोग तो अपने गिरवी रखे सोने का बीमा भी करवा देते हैं, ताकि भविष्य में अगर वह चोरी हो जाता है, तो आपको बाजार में प्रजेंट मूल्य के अनुसार खोये हुए सोने की कीमत मिल जाती है। इस तरह से बहुत से लोग अपने गोल्ड लोन को बैंक में सिक्योर सिक्योरिटी के रूप में अलग अलग तरह से कर देते हैं।

गोल्ड लोन के लिए जरूरी दस्तावेज

Gold Loan लेने के लिए सभी बैंक और एनबीएफसी संस्थाओं में बहुत कम दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है जिन जरूरी कागजात की इतनी आवश्यकता होती है उनकी जानकारी निम्न है…

  • आधार कार्ड
  • एड्रेस प्रूफ
  • इनकम प्रूफ
  • फ़ोटो

गोल्ड लोन के लिए आवेदन

यदि आपको Gold Loan किसी भी मुसीबत के समय किसी भी कार्य के लिए लेते हो उनकी आपको किसी भी बैंक में एमबीए फाइनेंस कंपनी में जाकर अप्लाई करना होगा। वहां पर आपको गहने ( आभूषण, बिस्कुट,सिक्के, आदि) साथ ले जाना जरूरी होता है।उसके बाद बैंकिंग कर्मचारी आपके द्वारा दिए गए गोल्ड की सही जांच करते हैं अर्थात का निरीक्षण करते है कि आपका सोना कितने ग्राम का है, उसकी कितनी वैल्यू और उस समय के हिसाब से आपको कितनी कीमत मिल जाएगी।

हालांकि इस समय आप सब जानते हो कि करोना महामारी के दौरान जितनी भी एनबीएससी और बैंक होते है वह सभी अपने एक बैंक कर्मचारी को आपके घर पर भेज कर आप के गहनों का सही मूल्यांकन करती है। उसके बाद आपकी गोल्ड लोन की पूरी प्रक्रिया की जाती है। फिर आपको लोन मिल जाता है। इसके अलावा गोल्ड लोन के लिए आप ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हो। आज के समय में बहुत सी ऐसी वेबसाइट चल रही हैं, जिन के ऑफिशियल पेज पर जाकर आप अपनी पूरी डिटेल्स उस में भरकर सबमिट कर सकते हो। बैंक के द्वारा कर्मचारी आपके पास आकर आपके गोल्ड का मूल्यांकन कर करके ले जाएगा। और आपके बैंक अकाउंट में लोन की राशि आ जाएगी।

Gold Loan के लिए रिपेमेंट

जब भी आप गोल्ड लोन के लिए आवेदन करते हो तो उसको भुगतान करने का निर्णय आपका खुद का होता है। इसमें आप दो तरह से भुगतान कर सकते हो या तो आप एक साथ लोन की राशि बैंक में जमा करवा सकते हैं। उसके जो भी प्रोसेसिंग चार्ज, जीएसटी, ब्याज की दरें सभी को लोन की राशि के साथ जमा करवा सकते हो। अगर आपके लोन का अमाउंट बड़ा है तो उसको आप मासिक किस्तों के रूप में भरोगे तो आपके लिए सही रहेगा। क्योंकि मासिक किस्तो के रूप में लोन को भरने में व्यक्ति का मासिक बजट नहीं बिगड़ता है। अगर आपके पास में पर्याप्त पैसा उपलब्ध है तो आप लोन के अमाउंट को एक साथ भाग सकते हो।

निष्कर्ष

आज आपको इस आर्टिकल के द्वारा गोल्ड लोन क्या होता है? What is gold loan?इसके बारे में पूरी जानकारी विस्तृत रूप से बताइए है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई यह सब जानकारियां पसंद आई होंगी। आपको इससे और अधिक जानकारी या किसी प्रकार का कोई सुझाव चाहिए तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं। और हमारी इस पोस्ट को आप लाइक शेयर जरूर करे।

FAQ

गोल्ड लोन के लिए कहां कहां आवेदन कर सकते हैं?

बजाज गोल्ड लोन, मन्नापुरम गोल्ड लोन, मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन।

गोल्ड लोन किस प्रकार का लोन होता है?

यह एक सिक्योर लोन है।

गोल्ड लोन पर लगने वाला ब्याज कितना प्रतिशत होता है?

12.75%वार्षिक