Home Loan क्या होता है?

हेलो दोस्तों आज हम आपको होम लोन के बारे में बताने जा रहे हैं जैसा कि आप सब लोग जानते हो आज हर एक व्यक्ति का सपना होता है कि उसका अपना खुद का एक घर हो जिसमें वह अपने परिवार को अच्छे से रख सके लेकिन बढ़ती हुई महंगाई और आज आदमी के खर्चे इतने हो गए हैं कि घर बनाने के लिए सोचना थोड़ा मुश्किल हो गया है लेकिन इन सभी समस्याओं के लिए एक हल आपके पास है आप घर बनाने के सपने को साकार कर सकते हैं.

Home Loan

इसके लिए आप किसी भी बैंक के द्वारा होम लोन लेकर आसानी से घर बना सकते हैं इसके लिए आपको हर महीने मासिक किस्तों के रूप में पैसा जमा करवाना पड़ेगा आइए आज हम आपको बताते हैं किस तरह से होम लोन लिया जाता है इसके लिए क्या क्या प्रक्रिया होती है किन-किन जरूरी कागजातों की आवश्यकता पड़ती है यह होम लोन किस प्रकार का लोन होता है आइए जानते हैं….

Home loan क्या है

Home Loan जो व्यक्ति किसी बैंक की या निजी संस्थान के द्वारा कर्ज के रूप में धन अपना घर बनाने जमीन खरीदने या फिर मकान के रिनोवेशन के लिए जो रकम उधर लेता है, उसी को हम लोन कहते हैं।

यह लोन एक सिक्योर्ड लोन होता है, क्योंकि जब भी किसी बैंक के द्वारा आप होम लोन के लिए आवेदन करते हैं,तो बैंक सबसे पहले आपकी जमीन या जिस जगह को आप खरीदना चाहते हो, उसके कागज पहले ही बैंक अपने नाम करवा लेता है। उसके बाद आपको लोन के लिए अप्रूवल मिलता है। होम लोन के लिए ब्याज की दर भी बहुत कम लगती है, और इसको आप मासिक किस्तों के रूप में लंबे समय तक चुका सकते हो। इस नोन को आप समय पर भर देते हो तो वापस से बैंक के द्वारा आप की प्रॉपर्टी के कागजात आपके नाम ही कर दिये जाते हैं।

Home loan कितने प्रकार का है

यदि आप होम लोन के लिए आवेदन करते हो तो उसे बैंक आपसे लोन के होम लोन किस प्रकार का लेना चाहते हो इसके लिए जानकारी अवश्य लेता है आइए जानते हैं होम लोन के प्रकार

1. होम परचेज के लिए लोनइस प्रकार का लोन घर खरीदने के लिए लिया जाता है। इसी को होम लोन भी कहते हैं।

2. होम इंप्रूवमेंट के लिए लोनयह लोन घर की मरम्मत या घर के नवीनीकरण के लिए आप उपयोग में ले सकते हैं।

3. होम कंस्ट्रक्शन के लिए लोनजब आपने घर बनाने के लिए जमीन खरीदी है लेकिन उसको बनाने के लिए आपके पास में पैसा नहीं है ऐसे में आप होम कंस्ट्रक्शन लोन लेकर अपने नए घर को बना सकते हो।

4. लैंड परचेज के लिए लोन – यह लोन आपको जमीन खरीदने के लिए बैंक के द्वारा मिल सकता है। कोई भी व्यक्ति जिसका घर बनाने का सपना हो वह इस प्रकार के लोन को लेकर अपने सपने को पूरा कर सकता है।

5. होम एक्सटेंशन के लिए लोनयह लोन घर में आप किसी अन्य जगह कमरा बाथरूम किचन गैराज आदि के निर्माण के लिए आप होम एक्सटेंशन लोन ले सकते हो या फिर आप कोई फ्लोर बना रहे हो और आपके पास में पहले से ही 2 फ्लोर बने हुए हैं उसके ऊपर और बनाना चाहते हो इसके लिए आप होम एक्सटेंशन लोन लेकर बना सकते हो।

6 ज्वाइंट होम लोनयह लोन दो या दो से अधिक व्यक्तियों को जमीन खरीदने के लिए या घर बनाने के लिए ज्वाइंट होम लोन बैंक के द्वारा दिया जाता है।

7. होम लोन बैलेंस ट्रांसफरअगर आपकी होम लोन की जो भी राशि या पैसे बकाया है उसको कम ब्याज में नियम शर्तों के साथ किसी दूसरे लेंडर के पास में स्विच करके इस सुविधा का लाभ उठा सकते हो।

8. टॉप अप होम लोनयह लोन आपकी जो बैंक में पहले से ही लोन की राशि बकाया है उसके ऊपर और उधार देने के लिए इस प्रकार का लोन दिया जाता है।

होम लोन के लिए लोन की कीमत

जब भी आप किसी भी बैंक में होम लोन के लिए आवेदन करते हो तो बैंक सिक्योरिटी के रूप में आप की प्रॉपर्टी को जप्त कर लेता है ऐसे में आपको जो बैंक के द्वारा लोन की राशि मिलती है वह आप की प्रॉपर्टी की 90% मूल्य के लोन आपको मिल जाती है। आसानी से आप बैंक से कम से कम 10 ₹1500000 का होम लोन ले सकते हो और अपना घर बना सकते हो।

Home loan के भुगतान का समय

आप सभी की जानकारी के लिए बता देते हैं जब भी आपको हम लोन के लिए आवेदन करते हो तो इसे सबसे बड़ा फायदा समय का होता है इसको आप बहुत कम ईएमआई के द्वारा और लंबे समय में भर सकते हो इससे आपके मासिक बजट पर भी कोई असर नहीं पड़ेगा। होम लोन में ईएमआई चुकाने का समय लगभग 30 वर्ष का दिया जाता है। आप चाहे अगर आपके पास पैसे पहले से ही हो जाए तो आप बैंक से सेटलमेंट भी कर सकते हो। उसमें आपको जो ब्याज की दर है और अन्य प्रकार के जो चार्ज है उनमें रियायत मिल जाएगी।

Home loan पर लगने वाला ब्याज

होम लोन के लिए बैंक के द्वारा ब्याज भी बहुत कम लगता है क्योंकि यह एक सिक्योर लोन होता है। इसमें बैंक को भी किसी प्रकार की धोखाधड़ी का सामना नहीं करना पड़ता क्योंकि बैंक सिक्योरिटी के रूप में आप की जमीन के कागज अपने पास गिरवी रख लेती है, इसीलिए अक्सर होम लोन पर ब्याज की दर सभी बैंकों की अलग-अलग लगाई जाती है। यह ब्याज की दर सभी बैंकों की अलग-अलग प्रकार से होती है। पैसे होम लोन पर ब्याज की दर 6.50%प्रतिशत सालाना लगती है।

कम ब्याज पर home loan देने वाली बैंक

एक तरह से  होम लोन की राशि का भुगतान बहुत लंबे समय का होता है, इसलिए ब्याज की दरों में कोई फर्क ज्यादा नहीं पड़ता है। भारत में बहुत कम ब्याज पर होम लोन देने वाली बैंक निम्न है..

  • कोटक महिंद्रा बैंक का ब्याज 6.50% होता है। इसकी मासिक क़िस्त 641रुपये प्रतिमाह होती है।
  • Sbi बैंक का ब्याज 6.70% लगता है और 646 रुपये प्रतिमाह emi जमा होती हैं।
  • एचडीएफसी व आईसीआईसीआई में ब्याज 6.75% लगता है।और मासिक क़िस्त 649 रुपये जमा की जाती है।
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का ब्याज 6.80% लगता है और मासिक emi  652 रुपये लगती है।
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का ब्याज 6.85% लगता है और मासिक emi 655 रुपये लगती है।

होम लोन लेने पर जो भी ब्याज की दरें लगती हैं वह आरबीआई के द्वारा बिना किसी सूचना के कभी भी बदली जा सकती हैं यह सभी ब्याज की दरें इस बात पर भी निर्भर करती है कि बैंक के द्वारा आवेदक का क्रेडिट स्कोर उसका उम्र लोन चुकाने का समय इन सब के ऊपर भी ब्याज की दर निर्भर करते हैं आपका बैंक के साथ किस तरह का व्यवहार है।

Home loan लेने के लगने वाले अन्य चार्जेज

होम लोन के लिए जब भी कोई व्यक्ति आवेदन करता है तो वह केवल ब्याज की दरों पर ध्यान देते हुए अन्य जो भी चार्ज लगाए जाते हैं उनकी अनदेखी कर देता है जबकि होम लोन के ऊपर यह अन्य लगने वाले चार्जेस होम लोन को बहुत प्रभावित कर देते हैं बैंक के द्वारा होम लोन के ब्याज के अलावा भी लगने वाले अन्य चार्जर के बारे में जानकारी निम्न प्रकार से है…

1.एप्लीकेशन फीसयह चार्ज होम लोन के लिए आप आवेदन करते हो तो जो भी शुरुआत में खर्चे होते हैं उन को कवर करने के लिए बैंक के द्वारा लिए जाते हैं यह खर्चे वेरिफिकेशन को पूरा करने के काम में भी आते हैं।

2. प्रोसेसिंग फीसप्रोसेसिंग चार्ज जो लोन लेने वाला व्यक्ति है उसकी क्रेडिट प्रोफाइल उसकी आए और होम लोन योजना के ऊपर निर्भर करती है हालांकि सभी बैंक प्रोसेसिंग चार्ज नहीं लगाते हैं।

3. एडमिनिस्ट्रेटिव फीसयह फीस उन लोन के संस्थानों के द्वारा दी जाती है जो प्रोसेसिंग फीस को दो भागों में विभाजित करते हैं एक तो लोन के अप्रूवल के बाद लगाया जाने वाला हिस्सा एडमिनिस्ट्रेटिव फीस के रूप में होता है।

4. फोरक्लोजर फीस – यह फीस जब देरी होती है जब भी कोई व्यक्ति होम लोन का भुगतान उसकी तय सीमा से पहले ही कर देता है, इसीलिए पहले बैंक होम लोन पर प्रीपेमेंट पेनेल्टी और फॉर क्लोजर फीस लेते थे लेकिन अब आरबीआई ने होम लोन पर प्रीपेमेंट पेनेल्टी लगाने पर रोक लगा दी है।

Home loan के टैक्स में बेनिफिट्स

भारत सरकार ने आईटी एक्ट के अंतर्गत 1961 के तहत होम लोन लेने वाले व्यक्तियों पर टैक्स में बहुत से लाभ दिए हैं हर साल होम होम लोन लेने वाले जो भी व्यक्ति हैं वह अच्छी खासी बचत कर लेते है। टैक्स में होने वाले लाभ निम्न प्रकार से हैं..

  • सेक्शन 24 बी के अंतर्गत ब्याज भरने पर टैक्स में ₹200000 तक की छूट मिल जाती है।
  • सेक्शन 80c के अंतर्गत मूल राशि के ऊपर 1.5 लाख की टैक्स में छूट मिलती है।
  • सेक्शन 80ee में जिन्होंने पहली बार घर खरीदा है उनको 50000 की छूट टैक्स में मिल जाती है।
  • सेक्शन 80EEA के अंतर्गत अतिरिक्त ब्याज में 1.5 लाख की टैक्स में रियायत हो जाती है।

Home loan के लिए महत्वपूर्ण योग्यता

होम लोन के लिए आवेदन करने वालों को सबसे पहले कुछ उसके पास महत्वपूर्ण योगदान का होना जरूरी है आइए जानते हैं…

  • राष्ट्रीयता – होम लोन के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति को भारत का नागरिक होना जरूरी है।
  • क्रेडिट स्कोर – 750 या उससे भी अधिक।
  • आयु – 18 साल से अधिक ओर 70 साल से कम।
  • काम का अनुभव – व्यक्ति नौकरी पेशा हो या फिर उसका खुद का व्यापार हो।
  • वेतन – लोन लेने वाले व्यक्ति की आय कम से कम ₹25000 होनी चाहिए।
  • लोन की राशि – प्रॉपर्टी के मूल्य की 90% तक मिलती है।

इसके अलावा जब भी आप होम लोन के लिए आवेदन कर रहे हो तो उस पर योग्यता और शर्तें इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप प्रॉपर्टी किस प्रकार की खरीद रहे हो और कहां से खरीद रहे हो इसके आधार पर भी कुछ योग्यताएं देखी जाती है।

होम लोन लेने के लिए जरूरी कागजात

होम लोन लेने के लिए भी आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों को बैंक में जमा करवाना होता है हालांकि यह जो कागजात है आपके क्रेडिट स्कोर से भी आपके जरूरी कागजात घट व बढ़ सकते हैं, आइए जानते है होम लोन के लिए जिन जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है उनकी जानकारी निम्न है…

  • होम लोन के लिए एप्लीकेशन फॉर्म
  • पासपोर्ट साइज की फोटो
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • सही एड्रेस प्रूफ
  • बैंक की स्टेटमेंट या सैलरी स्लिप
  • प्रॉपर्टी से संबंधित दस्तावेज

Home loan लेने की प्रक्रिया

होम लोन लेने की प्रक्रिया आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से कर सकते हैं ऑनलाइन तरीके के लिए आप घर बैठे ही आवेदन कर सकते हैं और ऑफलाइन लोन के लिए आपको बैंक में या किसी भी संस्थान के द्वारा आप होम लोन ले रहे हैं वहां पर खुद चलकर आपको जाना पड़ेगा उसके बाद आपके जो भी प्रॉपर्टी से जुड़े कागजात हैं उन सभी के साथ में बैंक में होम लोन के लिए आवेदन करना होगा आपके सभी कागजातों की जांच की जाएगी इसके अलावा आपके प्रॉपर्टी के कागजात बैंक के नाम पर ट्रांसफर किए जाएंगे फिर आपका लोन अप्रूवल होगा इस तरह से आप होम लोन ले सकते हो।

होम लोन लेने के फायदे

होम लोन लेने के व्यक्ति को बहुत फायदे हो सकते हैं इसमें ब्याज बहुत कम लगता है इसके अलावा अपनी इच्छा के अनुसार आदमी अपना घर बना लेता है इस लोन की राशि को हर महीने किस्तों के रूप में जमा करवाना पड़ता है लोन भरने का समय 20 से 30 सालों का होता है। अगर आप समय से पहले इस नॉट राशि को बैंक में भर देते हो तो उसमें आपको बैंक से कुछ बेनिफिट लोन की राशि में मिल जाएगा। इसके अलावा आजकल होम लोन लेने के भारत सरकार के द्वारा भी फायदे हो रहे हैं क्योंकि इसमें सब्सिडी के रूप में होम लोन में ढाई लाख रुपए की मदद व्यक्ति को मिल जाती है इसके अलावा टैक्स में भी लाभ मिल जाते हैं।

निष्कर्ष

आप सभी लोग जानते हो कि आज हम सब का सपना होता है,एक अच्छा घर बनाने का,लेकिन व्यक्ति की जिम्मेदारियां इतनी होती हैं, कि उनकी वजह से अपनी शेविंग के आधार पर अपना घर नहीं बना सकते हैं।ऐसे में आप बैंक के द्वारा होम लोन लेकर आसानी से घर बना सकते हो। और लोन की राशि को मासिक किस्तों के रूप में चुका सकते हो।

 आज हमने आपको इस आर्टिकल के द्वारा होम लोन किस प्रकार से लिया जाता है।इसके बारे में जानकारी दी है, उम्मीद है आपको हमारे द्वारा लिखी हुई यह जानकारी समझ आई होगी।इससे और अधिक जानकारी के लिए या अन्य किसी सुझाव के लिए आप हमारे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते हैं और हमारी वेबसाइट से जुड़े रह सकते हैं।

FAQ

होम लोन किस प्रकार का लोन है?

यह एक सिक्योर लोन है।

होम लोन लेने के लिए क्या बैंक में जमीन के कागजात गिरवी रखना जरूरी होता है?

जी हां

होम लोन के लिए कितनी राशि बैंक से मिल सकती है?

जमीन की वैल्यू के हिसाब से 80 से 90% की।

Read in English